Home / Slider / फ्रांस के एक्सपर्ट करेंगे ‘नेपाल विमान हादसे की जांच, काठमांडू पहुंची टीम

फ्रांस के एक्सपर्ट करेंगे ‘नेपाल विमान हादसे की जांच, काठमांडू पहुंची टीम

काठमांडू. फ्रांस स्थित एटीआर एयरोस्पेस कंपनी के विशेषज्ञों की एक टीम ने नेपाल के पोखरा में विमान दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए जांच शुरू की, कास्की में जिला प्रशासन कार्यालय ने कहा कि फ्रांस से विशेषज्ञों की एक टीम दुर्घटनास्थल पर पहुंच गई है और प्रारंभिक जांच शुरू कर दी है। संस्कृति, पर्यटन और नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव सुरेश अधिकारी ने कहा, “विमान दुर्घटना के बाद देश और विदेश के सभी हितधारकों ने गहरी दिलचस्पी दिखाई है।”

कुल 11 विदेशी विशेषज्ञ हैं, जिनमें ब्यूरो ऑफ इंक्वायरी एंड एनालिसिस फॉर सिविल एविएशन सेफ्टी (बीईए) से चार, फ्रांसीसी सरकार की एक एजेंसी, जो विमानन दुर्घटनाओं और घटनाओं की जांच के लिए जिम्मेदार है। इसी तरह, छह विमान निर्माता एटीआर से हैं, एक फ्रेंको-इतालवी संयुक्त उद्यम जिसका मुख्यालय ब्लाग्नैक, फ्रांस में है और एक विशेषज्ञ यूरोपीय संघ विमानन सुरक्षा एजेंसी (ईएएसए) से है, जो नागरिक उड्डयन सुरक्षा के लिए जिम्मेदार यूरोपीय संघ (ईयू) की एक एजेंसी है।

उन्होंने मंगलवार शाम को पोखरा की यात्रा की और उनके साथ 11 सदस्यीय नेपाली टीम भी थी, जिनमें से पांच नेपाल सरकार द्वारा गठित जांच आयोग से थीं। नागरिक उड्डयन मंत्रालय के संयुक्त सचिव बुद्धि सागर लामिछाने ने कहा, “विशेषज्ञ नेपाल की जांच टीम का समर्थन करेंगे।” उनके मुताबिक, आयोग को कॉकपिट वॉयस रिकॉर्डर (सीवीआर) और फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर (एफडीआर) दोनों मिले हैं।

लामिछाने के अनुसार, “हम काठमांडू में सीवीआर की जांच करेंगे, जबकि एफडीआर विदेश भेजी जाएगी क्योंकि हमारे पास यहां रिकॉडिर्ंग की जांच करने की सुविधा नहीं है। हमने अभी तक यह तय नहीं किया है कि हमें किस देश को एफडीआर भेजना चाहिए।” लामिछाने ने कहा, “विदेशी विशेषज्ञ उन जांचों से जो सीखा है, उसके आधार पर सुरक्षा सिफारिशें करेंगे।” लामिछाने सरकार के नेतृत्व वाली जांच समिति के सदस्य सचिव हैं। विशेषज्ञ टीम घटनास्थल का निरीक्षण कर उड़ानों से जुड़े अधिकारियों से चर्चा कर हादसे के कारणों का पता लगाएगी।

यह पहला मौका है जब एटीआर विमान नेपाल में दुर्घटनाग्रस्त हुआ है।विमान हादसे के बाद सरकार ने पूर्व सचिव नागेंद्र घिमिरे के समन्वय में पांच सदस्यीय दुर्घटना जांच आयोग का गठन किया है। वॉयस रिकॉर्डर का स्थानीय स्तर पर विश्लेषण किया जाएगा, लेकिन नेपाल के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के प्रवक्ता जगन्नाथ निरौला ने कहा कि फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर फ्रांस भेजा जाएगा। दुर्घटनास्थल से अब तक 71 शव बरामद किए जा चुके हैं। एक अभी भी लापता है।

विमान जब पोखरा अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर उतरने वाला था तो प्रसिद्ध सेती नदी की चट्टान में गिर गया। उड्डयन विशेषज्ञों के अनुसार, दो अनुभवी पायलट विमान उड़ा रहे थे और मौसम और तकनीकी दिक्कतों की कोई समस्या नहीं थी। काठमांडू में विशेषज्ञों ने कहा है कि दुर्घटना एक भयानक आपदा थी क्योंकि विमान बिना किसी स्पष्ट कारण के साफ मौसम में गिर गया था। यात्रियों में तीन शिशु, तीन बच्चे और 62 वयस्क थे। नेपाल के नागरिक उड्डयन प्राधिकरण के अनुसार, यात्रियों में 53 नेपाली, पांच भारतीय, चार रूसी, एक आयरिश, एक ऑस्ट्रेलियाई, एक अर्जेटीना, दो कोरियाई और एक फ्रांसीसी शामिल थे।

Check Also

मध्य प्रदेश चुनाव रिजल्ट : हारी सीटों पर रणनीति में BJP सफल, 39 नामों की लिस्ट में से 26 जीते

भोपाल (मध्य प्रदेश). भारतीय जनता पार्टी ने 4 माह पहले अगस्त में 39 प्रत्याशियों की ...