BREAKINGTop Newsउत्तर प्रदेश

लखनऊ : भूमि पूजन चौथा समारोह , आज के मुख्य मेहमान और आकर्षण, कहाँ-कितना निवेश, जानिए सब कुछ?

सीएम योगी उत्तर प्रदेश में उद्योगों के अनुरूप माहौल के साथ ही भविष्य की योजनाओं को लेकर अपनी चर्चाएं करेंगे।

लखनऊ (उत्तर प्रदेश). यूपी को 1 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लिए संकल्प के साथ यूपी की सरकार आगे बढ़ रही है। सोमवार का दिन यानी कि आज का दिन बहुत ही महत्वपूर्ण होने वाला है। प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी जीबी 4.0 के माध्यम से प्रदेशभर के लिए 10 लाख करोड़ से ज्यादा की 14000 से अधिक परियोजनाओं का शुभारंभ करेंगे।

यूपी सरकार अपने लक्ष्य की ओर कदम बढ़ाएगी

प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन और सीएम योगी के नेतृत्व में इन परियोजनाओं की शुरुआत से उत्तर प्रदेश सरकार अपने लक्ष्य की ओर कदम बढ़ाएगी। आयोजन के शुभारंभ के अवसर पर प्रधानमंत्री सरकार की उपलब्धियों की जानकारी देंगे और निवेशकों को सफलता के राज बताएंगे। सीएम योगी उत्तर प्रदेश में उद्योगों के अनुरूप माहौल के साथ ही भविष्य की योजनाओं को लेकर अपनी चर्चाएं करेंगे।

आज के मुख्य मेहमान

औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल नंदी पीएम मोदी का स्वागत करेंगे। हिंदूजा ग्रुप के अध्यक्ष धीरज हिंदुजा, सैमसंग, साउथ वेस्ट एशिया के सीईओ जेपी पार्क, आईएनजीकेए के सीईओ सुसैन पल्लवरर, टॉयलेट ग्रुप के एचडी जीनल मेहता और एडवर्ब टेक्नोलॉजीज के अध्यक्ष जलज मेहता भी प्रदेश में औद्योगिक विकास की उपलब्धियों के विषय में अपने विचार रखेंगे। भारत सरकार के रक्षा मंत्री और लखनऊ से सांसद राजनाथ सिंह भी यहां पर अपने विचार रखेंगे। इसके बाद प्रधानमंत्री मोदी परियोजनाओं को डिजिटल ग्राउंड ब्रेकिंग के माध्यम से शुभारंभ करेंगे। प्रधानमंत्री को प्रदेश सरकार की उपलब्धियां पर आधारित बनाई गई एक शॉर्ट फिल्म भी दिखाई जाएगी।

आज का मुख्य आकर्षण

तीन दिवसीय इस आयोजन में दुनिया के करीब 4000 प्रतिभागियों के हिस्सा लेने की संभावना है। इसमें जाने-माने उद्योगपति, फॉर्च्यून ग्लोबल/इंडिया 500 कंपनियां, विदेशी निवेशक भागीदार, राजदूत व उच्चायुक्त और अन्य प्रतिष्ठित अतिथि शामिल हैं। प्रदर्शनी स्थल पर 10 अलग-अलग पवेलियन बनाए गए हैं, जिनमें एआई पवेलियन, टेक्सटाइल, डाटा सेंटर व इलेक्ट्रॉनिक्स एंड आईटी, वेयरहाउस एंड लॉजिस्टिक्स, फिल्म सिटी, इन्वेस्ट यूपी व टॉप इन्वेस्टर्स, मेडिकल डिवाइस, ईवी एंड रिन्यूएबल एनर्जी और डिफेंस व एयरोस्पेस शामिल हैं।

कहां-कितना निवेश

प्रदेश के सभी हिस्सों व जिलों में ये निवेश होगा। सर्वाधिक 52 प्रतिशत निवेश परियोजनाओं की शुरुआत पश्चिमांचल में होगी। इसके बाद पूर्वांचल में 29, मध्यांचल में 14 और बुंदेलखंड में 5 प्रतिशत निवेश परियोजनाओं को धरातल पर उतारा जाएगा।

एटा समेत 19 जिलों में लक्ष्य से ज्यादा का हुआ निवेश

प्रदेश के 19 जिले ऐसे हैं जिन्होंने लक्ष्य से ज्यादा निवेश हासिल किया है। इनमें एटा ने 354 प्रतिशत, सीतापुर 145, शाहजहांपुर 127, सोनभद्र 121, चंदौली 117, मुजफ्फरनगर और मुरादाबाद 114, मीरजापुर 113, हरदोई 111, अमेठी 108, बाराबंकी 108, फतेहपुर-गोंडा 105, बरेली 104, रामपुर 103, बहराइच 101 और लखीमपुर खीरी, भदोही व बिजनौर ने 100 प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर लिया है।

निवेश में 16 विभाग आगे

37 विभागों के माध्यम से यह निवेश किया जायेगा। इनमें 16 विभाग ऐसे हैं, जिन्होंने 100 प्रतिशत से अधिक लक्ष्य हासिल किया है। बेसिक शिक्षा विभाग ने 888 प्रतिशत, फूड एंड सिविल सप्लाई 226, वन विभाग 182, आयुष 173, पशुपालन 167, ऊर्जा 165, माध्यमिक शिक्षा 139, तकनीकी शिक्षा 133, उद्यान 120, अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत 114, केन डेवलपमेंट एंड शुगर इंडस्ट्री 112, चिकित्सा शिक्षा 110, स्वास्थ्य 105, यीडा 103, नागरिक उड्डयन 100 और जीनीडा ने 100 प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर लिया है।

चौथा भूमि पूजन होगा समारोह

यह योगी सरकार का चौथा भूमि पूजन समारोह आयोजित किया जायेगा है। पहले के तीन जीबीसी में 2.10 लाख करोड़ से ज्यादा का निवेश धरातल पर उतारा जा चुका है।

Back to top button