उत्तर प्रदेश

यूपी : 4 विधानसभा की सीटों पर उम्मीदवारों को उतारने की मारामारी तेज

उम्मीदवार निधन के बाद यह सीटें खाली हो गई थी।

लखनऊ (उत्तर प्रदेश). आगामी लोकसभा चुनाव के साथ ही यूपी के 4 विधानसभा सीटों पर भी उपचुनाव कराए जाने की घोषणा कर दी गई थी। इसके बाद से भाजपा और सपा में इन सीटों पर उम्मीदवारों को उतारने को लेकर मारामारी तेज हो गई है।

निधन के बाद यह सीटें खाली

जिन 4 सीटों पर उपचुनाव होने जा रहे हैं। उनमें से 3 सीट लखनऊ पूर्व, ददरौल (शाहजहांपुर) दुध्दी सुरक्षित (सोनभद्र) पर भाजपा का कब्जा था। एक सीट गैसड़ी (बलरामपुर) पर केवल सपा का कब्जा था। लखनऊ पूर्व सीट पर भाजपा विधायक रहें आशुतोष टंडन गोपाल और ददरौल से भाजपा विधायक रहें मानवेंद्र सिंह तथा सीट सपा विधायक डॉक्टर शिव प्रताप यादव के निधन के बाद यह सीटें खाली हो गई थी।

4 सीटों पर उपचुनाव

लखनऊ की पूर्व सीट पर चुनाव मैदान में उतारने के लिए प्रदेश संगठन की ओर से दिवंगत आशुतोष टंडन के भाई अमित टंडन और प्रदेश प्रवक्ता हीरो वाजपेई के नाम को लेकर राष्ट्रीय संगठन को भेजने के बात हो रही है। ददरौल सीट पर मानवेंद्र सिंह के बेटे अरविंद सिंह को चुनाव मैदान में उतारने पर विचार किया जा रहा है। दुद्धी सीट से रामदुलारे के परिवार से तो अब कोई भी नहीं बचा है। इसलिए अलबत्ता जिले के स्थानीय दलित पदाधिकारी से ही चुनाव मैदान में लड़ाने की बात हो रही है। गैसड़ी सीट पर भाजपा अपने किसी ताकतवर उम्मीदवार को उतारने के लिए सोंच रही है।

Back to top button