Top Newsदेश

CM चंपई सोरेन आज विधानसभा के विशेष सत्र में पेश करेंगे बहुमत,पूर्व CM सोरेन हो सकते हैं शामिल

सोमवार यानी कि आज झारखंड विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र शुरू किया जा रहा है। सोमवार से लेकर मंगलवार तक यह सत्र चलेगा, जिसमें चंपई सरकार अपना बहुमत साबित करेगी।

Champai Soren will present majority in the special session of the Assembly today, former CM Soren may attend.

झारखंड (रांची). झारखंड की सरकार के लिए आज सोमवार का दिन बहुत बड़ा दिन है, क्योंकि आज चंपई सोरेन फ्लोर टेस्ट के लिए बहुमत साबित करेंगे। विधानसभा सत्र के विशेष सत्र में शामिल होने के लिए, हैदराबाद के रिसोर्ट में रॉक गए गठबंधन सरकार के विधायक आज वापस रांची लौट आए हैं। इन विधायकों में झारखंड मुक्ति मोर्चा और कांग्रेस के विधायक भी शामिल हैं। हेमंत सोरेन के गिरफ्तार होने के बाद और चंपई सोरेन द्वारा मुख्यमंत्री के शपथ लेने के बाद, इन विधायकों को तेलंगाना भेज दिया गया था। झारखंड मुक्ति मोर्चा ने तब विधायकों को खरीद परोक्त के जरिए, विधायकों को दाल बदलवाने की कोशिश करने का आरोप लगा दिया था।

बहुमत विश्वास मत विधानसभा में पेश करेंगे

सोमवार यानी कि आज झारखंड विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र शुरू किया जा रहा है। सोमवार से लेकर मंगलवार तक यह सत्र चलेगा, जिसमें चंपई सरकार अपना बहुमत साबित करेगी। झारखंड मुक्ति मोर्चा नीति गठबंधन के लगभग 40 विधायक 2 फरवरी को दो उड़ानों से हैदराबाद आ गए थे। यह आशंका बताई गई थी कि भारतीय जनता पार्टी चंपई सोरेन के नेतृत्व वाली नई सरकार के विश्वास मत से पहले विधायकों की खरीद फरोख्त की कोशिश करने की योजना बना सकती है। वह रविवार को रांची के लिए एक दिन पहले ही रवाना हो गए हैं। देर रात राज्य की राजधानी पहुंचे थे। पिछले तीन दिनों से वह एक रिसॉर्ट में रह रहे थे। आज वह अपना बहुमत विश्वास मत विधानसभा में पेश करेंगे।

पूर्व सीएम हेमंत सोरेन भी हो सकते हैं शामिल

चंपई सोरेन 2 फरवरी को अपनी शपथ ग्रहण करने के बाद उन्हें विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए, 10 दिन का समय दिया गया था। सत्तारूढ़ गठबंधन के नेता आलमगीर आलम ने कहा था कि 5 फरवरी को ही विशेष क्षेत्र के दौरान वह बहुमत साबित करेंगे। इस अवधि के दौरान वह कोई भी जोखिम नहीं ले सकते हैं, क्योंकि भाषा हमारे विधायकों से संपर्क करने की कोशिश करेगी। मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गिरफ्तार किए गए झारखंड के पूर्व सीएम हेमंत सोरेन भी इस विधानसभा में बहुमत सत्र में शामिल हो सकते हैं। हेमंत सोरेन को पीएमएलए कोर्ट की इजाजत मिल चुकी है। हेमंत सोरेन को प्रवर्तन निदेशालय ने बीते 31 जनवरी को गिरफ्तार किया था। झारखंड हाई कोर्ट भी हेमंत सोरेन की याचिका पर आज सुनवाई करने वाला है। उन्होंने प्रवर्तन निदेशालय की गिरफ्तारी की कार्रवाई को अदालत में चुनौती दी है।

46 विधायकों से ज्यादा का समर्थन प्राप्त

81 सदस्य झारखंड विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए मुख्यमंत्री चंपई सोरेन को 41 विधायकों का समर्थन प्राप्त हो चुका है। सत्तारूढ़ गठबंधन सरकार ने यह दावा किया है कि उनका 46 विधायकों से ज्यादा का समर्थन प्राप्त है। झारखंड की विधानसभा 81 सीटों में एक सीट रिक्त है, ऐसे में ऐसी सीटों के लिए बहुमत का आंकड़ा 41 को जाता है।

चौपाई सोरेन कौन है?

चंपई सोरेन झारखंड की विधानसभा के सदस्य हैं। वर्तमान समय में वह झारखंड मुक्ति मोर्चा पार्टी से सरायकेला विधानसभा सीट से विधायक बने हुए हैं। कैबिनेट मंत्री के रूप में वह हेमंत सोरेन की सरकार में परिवहन, अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति तथा पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं।

Champai Soren will present majority in the special session of the Assembly today, former CM Soren may attend.
Back to top button