Top Newsदेश

राज्यसभा सांसद दिनेश शर्मा ने विपक्ष पर साधा निशाना, बोले- ढोंग से नहीं ढंग से कार्य कीजिये

विपक्ष चुनाव के समय में जनता को बहलाने के लिए राजनैतिक श्रंगार करके यात्रा निकाल रहा है। चुनाव के समय में वे वेशभूषा भी बदलते हैं और टीका चन्दन आरती भी करने लगते हैं। अब इस राजनैतिक स्वांग से काम नहीं चलने वाला है।

नई दिल्ली (भारत). राज्यसभा सांसद और उत्तर प्रदेश के पूर्व उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने विपक्ष को ढोंग नहीं ढंग से कार्य करने की सलाह दी है। उनका कहना है कि विपक्ष चुनाव के समय में जनता को बहलाने के लिए राजनैतिक श्रंगार करके यात्रा निकाल रहा है। चुनाव के समय में वे वेशभूषा भी बदलते हैं और टीका चन्दन आरती भी करने लगते हैं। अब इस राजनैतिक स्वांग से काम नहीं चलने वाला है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पर साधा निशाना

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष पर बिना नाम लिए निशाना साधा और  कहा कि इस नाटक का ही परिणाम है कि आज उनकी यात्रा भी पैदल है और वे खुद भी पैदल होने के कगार पर हैं। विपक्षी दल 5 साल तक खाली बैठे रहते हैं और चुनाव आते ही ये सब नाटक आरंभ कर देते हैं जबकि भाजपा का एक एक कार्यकर्ता पूरे पांच साल लगातार जनता की सेवा में रहता है। विपक्षी दलों को बिना किसी कारण के शोर मचाने की आदत सी पड़ गई है।

सभी नागरिकों के बीच में समानता का भाव

उत्तराखंड सरकार द्वारा पेश किया गया समान नागरिक संहिता को अच्छी पहल बताते हुए डा शर्मा ने बताया कि देश के सभी नागरिकों के बीच में बराबर का भाव होना चाहिए। यह प्रस्ताव उसी भावना से आया है। ये आने वाले समय में अन्य राज्यों के लिए एक माडल बन सकता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भी कहना है कि नागरिकों के बीच में भेदभाव नहीं हो और उनकी सरकार की योजनाओं के मूल में भी सबका साथ सबका विकास और सबके लिए प्रयास का मंत्र है। वर्तमान की यह मोदी सरकार देश के हर नागरिक की सरकार है और हर नागरिक के कल्याण के लिए कार्य कर रही है।

भ्रष्टाचार करेंगे उनके घर जांच एजेन्सी ही आएगी बधाई नहीं

पत्रकारों के सवाल के जवाब में सांसद ने कहा कि ED, CBI जैसी एजेन्सियां भ्रष्टाचार के खिलाफ जांच के लिए ही बनी हैं। जो लोग भ्रष्टाचार करेंगे उनके घर जांच एजेन्सी ही आएगी बधाई नहीं आएगी। इनके भ्रष्टाचार के कारण ही विपक्ष के कई नेता लम्बे समय से जेल में है और कोर्ट से भी उन्हें जमानत नहीं मिल रही है। मोदी सरकार की भ्रष्टाचार पर ना खाऊँगा न खाने दूगा की नीति स्पष्ट है । इस सरकार में किसी भी एजेन्सी का दुरुपयोग नहीं हो रहा है।

Back to top button