Top Newsदेश

भाजपा का स्थापना दिवस: जनसंघ से अलग होकर पहली बार बनी थी सरकार, 3 नेताओं ने मिलकर सजाई थी गोटियाँ

नई दिल्ली (भारत). भाजपा पार्टी का आज 44 वां स्थापना दिवस है। पार्टी इस मौके पर स्थापना दिवस मना रही है। पार्टी के कई नेताओं ने सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर बधाइयां दी हैं। केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने भी सोशल मीडिया पर पार्टी के स्थापना दिवस पर शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने पार्टी के लिए काम करने वाले सभी लोगों के लिए सैल्यूट पेश किया है।

भाजपा से पहले जनसंघ की स्थानपना की गई थी, जिसके प्रमुख्क तौर पर 3 बड़े नेता थे, जिसमें इसके तीन संस्थापक सदस्य थे श्यामा प्रसाद मुखर्जी , बलराज मधोक और दीन दयाल उपाध्याय थे। जनसंघ एक हिंदू राष्ट्रवादी स्वयंसेवी संगठन, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की राजनीतिक शाखा थी। जनसंघ का भाजपा के तौर पर बनाने को लेकर कई सदस्यों ने इसका विरोध भी किया था। फिर जनता पार्टी से अलग होकर 6 अप्रैल, 1980 को एक नये संगठन ‘भारतीय जनता पार्टी’ की घोषणा की। इस प्रकार भारतीय जनता पार्टी की स्थापना हुई। भारतीय जनता पार्टी एक सुदृढ़, सशक्त, समृद्ध, समर्थ एवं स्वावलम्बी भारत के निर्माण हेतु निरंतर सक्रिय है।

भारतीय जनाता पार्टी का निर्माण आधिकारिक रूप से १९८० में हुआ और इसके बाद प्रथम आम चुनाव १९८४ में हुये जिसमें पार्टी केवल दो लोकसभा सीटे जीत सकी। इसके बाद १९९६ के चुनावों तक आते-आते पार्टी पहली बार लोकसभा में सबसे बड़े दल के रूप में उभरी लेकिन इसके द्वारा बनायी गई सरकार कुछ ही समय तक चली।

केंद्रीय मंत्री अमित शाह ने दी बधाई

अमित शाह ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि सभी कार्यकर्ताओं को भारतीय जनता पार्टी के स्थापना दिवस की बहुत-बहुत बधाई। भाजपा पार्टी को विश्व का सबसे बड़ा राजनीतिक दल बनाने के लिए मैं सभी लोगों का वंदन करता हूं। आप सभी लोगों का संगठन के प्रति अटूट समर्पण और निष्ठा से काम करने के लिए बहुत-बहुत आभार है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भाजपा पार्टी गरीब कल्याण और सांस्कृतिक विरासतों के पुनर्निर्माण के लिए महत्वपूर्ण सहयोग दे रही है।

Back to top button