देश

निर्वाचन आयोग ने जारी किया पार्टियों से जुड़ा चुनावी बांड डेटा, जाने किसे मिला कितना

2018 में चुनावी बांड की शुरुआत के समय के बाद भाजपा सबसे आगे है।

नई दिल्ली (भारत). निर्वाचन आयोग ने रविवार के दिन एक ताजा आंकड़ा जारी किया है। इसमें चुनावी बांड से जुड़े आंकड़े शामिल है। इसमें यह बताया गया है कि किसको कितने चुनाववी बांड चंदे मिले हैं। इसमें सबसे बड़े खरीदार फ्यूचर गेमिंग और होटल सर्विसेज ने तमिलनाडु की सत्तारूढ़ पार्टी डीएमके को 509 करोड़ रुपए का चंदा दिया है।

निर्वाचन आयोग ने जारी किया पार्टियों से जुड़ा चुनावी बांड डाटा

2018 में चुनावी बांड की शुरुआत के समय के बाद भाजपा सबसे आगे है। इसको कुल 6986.5 करोड़ रुपए का चंदा मिला है।

भाजपा के बाद टीएमसी कांग्रेस और कांग्रेस तथा बिहारश ने सबसे ज्यादा चुनावी बांड को लिया है पश्चिम बंगाल के टीएमसी कांग्रेस को 1397 करोड़ और कांग्रेस को 1334 करोड़ तथा बरस को 1322 करोड़ का चंदा प्राप्त हुआ।

क्षेत्र की पार्टी पर अगर नजर डाली जाए तो उड़ीसा की बीजेपी को 944.5 करोड़ और डीएमके को 656.5 करोड़ तथा वाईएसआर कांग्रेस को 442.8 करोड़ का चंदा प्राप्त हुआ है।

टीडीपी ने 181.35 करोड़ रुपये, शिवसेना ने 60.4 करोड़ रुपये, राजद ने 56 करोड़ रुपये, समाजवादी पार्टी ने चुनावी बॉन्ड के जरिए 14.05 करोड़ रुपये, अकाली दल ने 7.26 करोड़ रुपये, एआईएडीएमके ने 6.05 करोड़ रुपये, नेशनल कॉन्फ्रेंस ने 50 लाख रुपये के बॉन्ड प्राप्त किये हैं।

चुनावी बॉन्ड के जरिए नेशनल कॉन्फ्रेंस और सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट को 50 लाख का चंदा प्राप्त हुआ है।

आम आदमी पार्टी ने समेकित दान का आंकड़ा नहीं दिया है, लेकिन SBI के रिकॉर्ड से पता चलता है कि उसे 65.45 करोड़ का चंदा प्राप्त हुआ है।

एसबीआई बैंक ने 2018 में योजना की शुरुआत के बाद से 30 किस्तों में 16,518 करोड़ रुपये के चुनावी बॉन्ड जारी किया है।

सुप्रीम कोर्ट ने एसबीआई को 12 अप्रैल 2019 से खरीदे गए चुनावी बॉन्ड की सारी जानकारी निर्वाचन आयोग को सौंपने का आदेश दिया था। एसबीआई बैंक ने चुनावी बॉन्ड जारी करने के लिए अधिकृत वित्तीय संस्थान बना है।

Back to top button