विदेश

जेसीएम में बोले विदेश मंत्री जयशंकर- भारत बढ़ाएगा साउथ कोरिया के साथ सेमीकंडक्टर का क्षेत्र

जयशंकर ने अपने समकक्ष चो ताइ युल के साथ 10वीं भारत-दक्षिण कोरिया संयुक्त आयोग बैठक (जेसीएम) की सह अध्यक्षता करने के दौरान यह टिप्पणी किया।

दक्षिण कोरिया (सियोल). भारत के विदेश मंत्री जयशंकर दक्षिण कोरिया और जापान की 4 दिवसीय यात्रा के दौरान के पहले चरण में सियोल पहुंच गए हैं। उन्होंने बुधवार के दिन 10वीं भारत दक्षिण कोरिया संयुक्त आयोग बैठक में भाग लिया।

भारत बढ़ाएगा साउथ कोरिया के साथ सेमीकंडक्टर का क्षेत्र

बैठक के दौरान जयशंकर ने यह बताया कि भारत दक्षिण कोरिया के साथ महत्वपूर्ण उभरती प्रौद्योगिकियों और सेमीकंडक्टर तथा हाइड्रोजन जैसे नए क्षेत्रों में अपनी रणनीति साझेदारी को बढ़ाना चाहता है। इससे द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत बनाने में सफलता मिलेगी। जयशंकर ने अपने समकक्ष चो ताइ युल के साथ 10वीं भारत-दक्षिण कोरिया संयुक्त आयोग बैठक (जेसीएम) की सह अध्यक्षता करने के दौरान यह टिप्पणी किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 2015 में दक्षिण कोरिया की यात्रा के दौरान द्विपक्षीय विशेष रणनीतिक साझेदारी तक बढ़ाया गया है।

नए क्षेत्रों में विस्तार करने में अधिक रुचि

विदेश मंत्री जयशंकर ने बताया कि पिछले कई बीते वर्षों में हम अपने कार्यों पर मजबूती से आगे बढ़ाते हुए आए हैं। द्विपक्षीय आदान-प्रदान मजबूत बन गए हैं। नए क्षेत्रों में विस्तार करने में बहुत अधिक रुचि जगी हुई है। दोनों देशों के विचारों में अंतरराष्ट्रीय मंच पर सामानता बढ़ रही है। उन्होंने बताया कि मैं बहुत उम्मीद के साथ संयुक्त आयोग से संपर्क किया था। मैं जानता हूं हम दोनों के बीच काफी अच्छे रिश्ते बने हुए हैं। हमारे नेताओं ने पिछले साल हिरोशिमा और नई दिल्ली में 2 बार मुलाकात की है। इन मुलाकातों ने ही आगे बढ़ाने के लिए हमें मार्गदर्शित किया है। जयशंकर ने चो ताइ युल को विदेश मंत्री नियुक्त होने पर बधाइयां दी। उन्होंने कहा कि मैं आपके सफल कार्यकाल के लिए हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं।

Back to top button