देश

जंगलों की आग से निपटने के लिए NDRF की विशेष टीमें तैनात

भारत में 54.40% जंगलों में कभी-कभी आग लग जाती है। 7.49% जंगल में बार-बार लगती है, 2.40% हाई लेवल की आग लगती है। 35.71% जंगल ऐसे हैं जो अभी आग के संपर्क में नहीं आए हैं।

नई दिल्ली (भारत). जंगल में लगने वाली आग से निपटने के लिए एनडीआरएफ की टीम ने 150 कर्मियों की पहली टुकड़ी को तैनात कर दिया है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अनुसार, विदेश से प्रशिक्षण करने की अनुमति मांगी गई है। 2022 में जब संसदीय पैनल ने आग पर काबू पाने के लिए चिंता व्यक्त की थी, तब जंगल की आग को लेकर आधिकारिक तौर पर यह बताया गया था कि जंगल की आग विशेष राष्ट्रीय बल द्वारा निपटान वाली आपदाओं का हिस्सा नहीं है।

एनडीआरएफ की टीम हुई तैयार

एनडीआरएफ के महानिदेशक अतुल करवाल ने यह बताया है कि जंगल की आग से निपटने के लिए टीमों को तैयार कर लिया गया है। 50-50 लोगों की टीमों को अब गुवाहाटी में पहली बार और विजयवाड़ा में स्थित दसवीं बटालियन तथा उत्तराखंड में बटालियन नंबर 15 के साथ तैनात कर दिया गया है। चौथी वाली टीम को प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्होंने आगे यह बताया है कि हम गृह मंत्रालय से यह अनुरोध कर रहे हैं कि उन्हें विदेशों से भी प्रशिक्षित किया जाना चाहिए, जिससे हम आज से निपटने वाले महत्वपूर्ण उपायों को सीख सकते हैं।

2.40% हाई लेवल की लगती आग

राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल के अनुसार जंगल में लगी हुई आग को बुझाने के लिए यह बल काम करेगा यह बल फायर लाइन भी खींचेगा, जिससे आग पर काबू पाया जाएगा। इस वजह से लोगों को बचाने में बहुत मदद मिलेगी। रिपोर्ट के अनुसार, भारत में 54.40% जंगलों में कभी-कभी आग लग जाती है। 7.49% जंगल में बार-बार लगती है, 2.40% हाई लेवल की आग लगती है। 35.71% जंगल ऐसे हैं जो अभी आग के संपर्क में नहीं आए हैं।

Back to top button