Top Newsविदेश

अमेरिका-यूके का हूतियों के खिलाफ संयुक्त हमला, 10 स्थानों के 30 लक्ष्य बर्बाद, आज होगी US की आपातकालीन बैठक

दोनों देशों ने हूती के अलग-अलग ठिकानों पर 30 से अधिक लक्ष्यों पर हमला कर दिया है।

US-UK joint attack against Houthis, 30 targets in 10 places destroyed, US emergency meeting to be held today

अमेरिका (वाशिंगटन). इसराइल और हमास के बीच अभी युद्ध जारी है, जिसका असर मध्य पूर्व के अलग-अलग देशों में दिखाई पड़ रहा है। अमेरिका के खिलाफ ईरान, जॉर्डन सीरिया और हूती सहित अन्य देश हमलावर बने हुए हैं। जिसके चलते अमेरिका ने हूती विद्रोहियों को मुंहतोड़ जवाब दे दिया है। संयुक्त राज्य अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम ने शनिवार के दिन हूती के ठिकानों पर जमीनी हमले कर दिए हैं। दोनों देशों ने हूती के अलग-अलग ठिकानों पर 30 से अधिक लक्ष्यों पर हमला कर दिया।

अमेरिका का विद्रोहियों के खिलाफ हमला

हमला होने के बाद अमेरिका और ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, बहरीन, कनाडा, डेनमार्क, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड आदि ने एक संयुक्त बयान जारी कर दिया है। उन्होंने कहा कि हमारा उद्देश्य लाल सागर में शांति स्थापित करना है। हम लाल सागर में तनाव नहीं रखना चाहते हैं। लाल सागर विश्व के महत्वपूर्ण जलमार्गों में से एक है। इसकी रक्षा करने के लिए हम संकोच नहीं करेंगे।

यूएस की सेंट्रल कमांड ने यह बताया कि अमेरिका की सेना ने शनिवार 7:20 मिनट पर आत्मरक्षा में लाल सागर में विद्रोहियों के द्वारा तैयार किए गए 6 एंटी शिप क्रूज मिसाइल के खिलाफ हमला किया था। कमांडो ने यह बताया कि लाल सागर में अमेरिकी नौसेना के जहाज और व्यापारिक जहाजों के लिए संकट उत्पन्न किया जा रहा था।

आपातकालीन बैठक

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद आपातकालीन बैठक आयोजित कर रहा है। यह बैठक सोमवार यानी कि आज होगी। यह बैठक के सुरक्षा परिषद के स्थाई सदस्य और ईरान के करीबी रूस की अनुरोध पर होगी। इस बैठक में इराक और सीरिया में ईरान समर्थित मलेशिया समूहों पर अमेरिकी हमलों पर चर्चा करने के लिए होगी।

अमेरिका पर हो रहे हैं इसलिए हमले

गाजा में किया जा रहे हैं इजरायल हमले से मध्य पूर्व बौखला गया है। मध्य पूर्व गाजा में हो रहे हैं हमलों का कारण अमेरिका को मानता है, यही वजह है की होती विद्रोही अदन की खाड़ी में व्यापारिक हमले के खिलाफ हमले कर रहे हैं। कभी ईरान तो कभी जॉर्डन तो कभी सीरिया में अमेरिकी सेना और अमेरिकी प्रतिष्ठानों पर हमले किए जा रहे हैं। हाल ही में एक तुर्किये में दो बंदूकधारी एक अमेरिकी कंपनी में घुस गए थे, उन्होंने कंपनी में मौजूद 7 लोगों को बंधक बना लिया था।

US-UK joint attack against Houthis, 30 targets in 10 places destroyed, US emergency meeting to be held today
Back to top button