BREAKINGविदेश

रूस यूक्रेन : प्रधानमंत्री मोदी के दखल पर टला परमाणु युद्ध का खतरा

अमेरिका ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी और कई वैश्विक नेताओं की क्रियाशीलता के कारण ही परमाणु युद्ध को टाला जा सका है।

अमेरिका (वाशिंगटन). रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध 2 साल पुराना हो गया है। फरवरी 2022 में यह युद्ध हिंसक रूप से शुरू हुआ था। 24 महीना से अधिक समय से बीत रहा यह युद्ध परमाणु संघर्ष की ओर बढ़ रहा था। इसी बीच प्रधानमंत्री मोदी ने दोनों देशों में रहने वाले भारतीयों की सुरक्षा को लेकर खुद कमान संभाली थी। रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिका ने दावा किया कि प्रधानमंत्री मोदी और कई वैश्विक नेताओं की क्रियाशीलता के कारण ही परमाणु युद्ध को टाला जा सका है।

प्रधानमंत्री मोदी के दखल पर टला परमाणु युद्ध का खतरा

रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी ने दोनों देशों के बीच बढ़ रहे टकराव को रोंकने के लिए राष्ट्रपति बिलोदिमीर पुतिन से बातचीत की। इस रिपोर्ट में यह दावा किया गया है कि मोदी और कई वैश्विक नेताओं ने मिलकर पुतिन को समझने में कामयाबी प्राप्त कर ली है। इसके बाद यूक्रेन पर परमाणु हमला होने से रोंका जा सका है।

जापान के हिरोशिमा और नागासाकी नगरों परमाणु हमला किया गया था

अधिकारियों के अनुसार, रूस की सेना ने जैसे ही यूक्रेन पर विशेष सैन्य कार्रवाई शुरू की थी और यह आशंका हुई कि परमाणु हमला किया जाएगा, तब अमेरिका ने कड़ी और ठोस जवाबी कार्रवाई करना शुरू कर दी थी। लगभग 80 साल पहले जापान के हिरोशिमा और नागासाकी नगरों पर अमेरिका द्वारा विनाशकारी परमाणु हमला किया था।

Back to top button